English Kaise Sikhe

1
136
english kaise sikhe

आज के जमाने में अंग्रेजी सीखना सिर्फ फैशन और शौक नही आज की जरूरत बन गयी है.रोजमर्रा के काम में अंग्रेजी भाषा का महत्व दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है (English kaise sikhe). इस कारण इसको सीखना बहुत जरुरी हो गया है. नही तो आपको बहुत सारी मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है.

आज पूरी दुनियां english के महत्व को समझ चुकी है और अंग्रेजी को अन्तर्राष्ट्रीय भाषा का दर्जा दिए जाने पर सभी एकमत है. विश्व में दूसरी सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा अंग्रेजी है.पहली सबसे ज्यादा बोले जाने वाले भाषा chinise है वो भी इसलिए क्यूंकि वहां की जनसंख्या विश्व में सबसे ज्यादा है.

English kaise sikhe

भारत में भी english का महत्व आजादी के पहले से हो गया था जब हमारी शिक्षा व्यवस्था में परिवर्तन किया गया था और अंग्रेजी को एक अनिवार्य विषय बना दिया गया था. तब से लेके आज हमारे देश में english का महत्व बहुत बढ़ गया है. हमारे देश के संविधान में भी अंग्रेजी को कार्यालयी भाषा (official language) का दर्जा प्राप्त है.

इसलिए हमारे देश में जितने भी सरकारी काम है उनमे english का use किया जाता है. अगर हम globally भी देखे तो अंग्रेजी भाषा सबसे ज्यादा बोले जाने वाली भाषा है अगर आपको english का अच्छा ज्ञान है तो आप विश्व के किसी भी देश में चले जाइये वहां आपको कोई मुश्किल नही आयेगी क्यूंकि यह भाषा हर जगह बोली जाती है और इसको बोलने वाले आपको हर देश में मिल जायेंगे.

ध्यान रखने योग्य बातें

English कैसे सीखें? English कैसे बोले? ये बताने से पहले कुछ बाते आपको बतानी बहुत जरुरी है जिससे आप किसी भी भ्रमजाल में ना फंसे. हम आपको किसी भी वहम में नही रखना चाहते जैसा की आज के समय में लोग कर रहे है सिर्फ अपने फायदे के लिए जिसका long term के लिए कोई फायदा नही ऐसी जानकारी सिर्फ आपका फायदा उठाने और अपना उल्लू सीधा करने के लिए की जाती है.

BLOGGING sikhe ya

अगर आपके अंदर थोड़ा बहुत भी विवेक है तो आप समझ सकते है की जिस चीज़ की मांग सबसे ज्यादा होती है उस चीज़ की गुणवता में उतनी ही कमी आ जाती है. आज India में हर कोई यह चाहता है कि वह फरार्टेदार English बोले? इसके लिए वो कितने भी पैसे लगाने के लिए तैयार हो जाते है.

English bolna kaise sikhe

और बाज़ार में बैठे स्वार्थी लोग इस चीज़ का फायदा उठाते है. वो आपको ऐसे सपने दिखाते है. जिसमे आप फंस जाते है और आखिर में हाथ सिर्फ निराशा के कुछ नही लगता. जिसके कुछ उदाहरण है- 30 दिनों में अंग्रेजी बोलना सीखिए.

ऐसे भ्रामक विज्ञापनों से आपको बचना चाहिए और खुद पे विश्वास करके आगे बढना चाहिए. ऐसी कोई जादू की छड़ी नही होती है जो आपको 30 दिन में अंग्रेजी बोलना सीखा दे english क्या कोई भी भाषा आप 30 दिन में नही सीख सकते.

हम आपको कुछ ऐसे तरीकें बताएँगे जिससे आपका अंग्रेजी सीखना थोड़ा सुगम और तेज़ हो जायेगा.

english kaise sikhe in hindi

i) नियमित अभ्यास करें (Practice regularly)

यह सूत्र सिर्फ english सीखने के लिए नही बल्कि दुनियां में अगर आपको कुछ भी सीखना हो तो यह formula हमेशा आपके काम में आयेगा. दुनियां में ऐसी कोई भी काम नही जिसमे आप नियमित अभ्यास से सफल नही हो सकते. जीवन के हर मोड़ पे सफल होने का यह स्वर्णिम सूत्र है.

यहाँ पे हमको यह समझना जरुरी है कि मेने सिर्फ अभ्यास नही लिखा बल्कि नियमित अभ्यास लिखा है. अभ्यास आपका तभी कारगर हो पायेगा जब आप उसमे नियमितता(continuity) रखेंगे. ऐसे बहुत से लोग है जो किसी चीज़ को बड़े उत्साह के साथ शुरू करतें है और कुछ दिन उसका अभ्यास भी करते है लेकिन जैसे कोई कठिनाई सामने आती है या फिर उस काम से ऊब जाते है तो उसको छोड़ देते है.

इसलिए मेने यहाँ आपको बोला है सिर्फ अभ्यास से कुछ नही होगा आपको उसका नियमित रूप से अनुशासन में रह के अभ्यास करना है. और तब तक करते जाना है जब तक आप उस काम में सफल नही हो जाते. इसलिए नियमित रूप से english का अभ्यास करते रहिये. लिख के पढ़ के या फिर किसी से बात करके अपने अभ्यास को तेज़ करते रहिये.

ii) किताबों का सही चुनाव

learn easy to speck in english

आज बाज़ार में ऐसी बहुत सारी किताबें आ गयी है जो यह दावा करती है कि आपको बहुत जल्दी अंग्रेजी बोलना सीखा देगी जो सिर्फ छलावा है बाकि कुछ नही. english एक भाषा है और भाषा को सीखने का उसको आत्मसात करने का तरीका होता है एक पूरी लम्बी प्रक्रिया होती है.

English kaise sikhe

रटने से हम किसी भाषा को नहीं सीख सकते. इसलिए आप बाज़ार में उपलब्ध ऐसी गलत किताबों के चक्कर में कभी ना पड़ें इससे ना सिर्फ आपको पैसो और समय का नुकसान होगा बल्कि आपका खुद पर से आत्मविश्वास भी डगमगा जायेगा. इसलिए हमेशा अच्छी किताबों का चुनाव करें.

अब प्रश्न ये खड़ा होता है की अच्छी किताबों का चुनाव कैसे करें? अच्छी किताबें कोनसी होती है? इसका पता लगाना बहुत आसन होता है. हमेशा प्रमाणिक writer की ही book खरीदें. ऐसी किताबें कभी ना खरीदें जो यह दावा करती हो की आपको कम समय में english बोलना या लिखना सीखा देगी.

iii) English में विचार करना शुरू करें

Think in english

हम यह हमेशा से सुनते आयें है कि हम जैसा विचार करतें है वैसे ही बन जाते है. जिस जगह हम जन्म लेते है वहां की जो भाषा है जिसको हम बचपन से सुनते आये है वह हमारे दिमाग में बैठ जाती है और हम जो भी सोचते है जो भी विचार करतें है वह उसी भाषा का होता है और वह हमारी आदत बन जाता है.

English likhna kaise sikhe

तो अगर हमको अंग्रेजी सीखनी है. तो हमे अपने विचार भी उसी में सोचना पड़ेगा. यह काम सुनने में जितना आसन है उतना है नही क्यूंकि हमारी आदत है हमारी स्थानीय भाषा में सोचने की. शुरू में थोड़ी मुश्किल आती है पर आपको रोज इसका अभ्यास करना है.

इसके लिए आपको हर दिन कोई समय निश्चित करना होगा और उस समय में आपको सिर्फ अंग्रेजी में सोचना है. धीरे-धीरे इसमे आपकी आदत विकसित हो जाएगी. और आपका दिमाग अंग्रेजी में सोचना शुरू कर देगा जिससे आपको english बोलने में आसानी होगी.

iv) व्याकरण – नजरअंदाज न करें

आपको ऐसे बहुत सारे blog और वेबसाइट मिल जायेंगे जो आपको कहेंगे कि व्याकरण पर ध्यान ना दें. यह बिलकुल गलत बात है किसी भी भाषा की नींव उसकी व्याकरण होती है जो उस भाषा को शुद्ध बनाती है.
अगर आप किसी भी भाषा पे अपनी पकड़ बनाना चाहते हो तो उसके लिए आपको व्याकरण पे विशेष ध्यान देने की आवश्यकता है. क्यूंकि जब तक नींव मजबूत नही होती अच्छा घर नही बन सकता. इसलिए व्याकरण का भी अभ्यास साथ में करें पर हमेशा उससे चिपके मत रहिये.

v) अपनी आवाज़ रिकॉर्ड करें और उसको सुनें

english बोलने का अभ्यास अपने स्तर पर करने की कोशिश करें. इसके लिए आप अंग्रेजी में जो भी बोले उसको record कर लें और उसको बार-बार सुनें जिससे आपको पता चले की किस जगह आप बोलने में गलती कर रहे हो. इन्सान का दिमाग पढ़ी हुई चीजों से ज्यादा सुनी हुई चीजों को याद रखता है. इसलिए english कैसे सीखे इसका एक तरीका खुद की आवाज़ को record करके सुनना भी है.

vi) English फ़िल्में और news देखें

english kaise sikhe jata hai

english सीखने का यह तरीका आपके लिए मनोरंजक हो सकता है. हम सभी फ़िल्में और news देखतें ही है हमको बस इतना करना है की हम अंग्रेजी में फ़िल्में देखना शुरू करें जिससे हमें मनोरंजन के साथ-साथ english सीखने का अवसर भी मिल जायेगा. शुरुआत में english फ़िल्में और news देखने में समझ नही आयेगी इसके लिए आप subtitles का use कर सकते हो.

फिर जैसे-जैसे आपको वह समझ में आने लगे आप बिना subtitles के देखो आपको वह समझ में आने लगेगा क्यूंकि हमारा दिमाग पढ़ कर और लिख कर उतना याद नही रख पता जितना याद किसी चीज़ को देख के होता है. इसलिए अगर आपको english सीखनी है तो अभी से english फ़िल्में देखना शुरू कर दीजिये जिससे आपके मनोरंजन के साथ-साथ सीखना भी चलता रहें.

vii) अनुवाद से बचें

क्या आपने आज तक यह सोचा है की भारत में अंग्रेजी अनिवार्य विषय होने के बाद भी हम से अधिकतर लोग english क्यूँ नही सीख पाते. क्यूँ हम में से ज्यादातर लोगो को english में बात करने में घबराहट होती है. इस समस्या की जड़ कहीं न कहीं हमारे education system में है.

हमें विद्यालय में जो अंग्रेजी पढाई जाती उसका तरीका गलत है. जिससे हम कभी english नहीं बोल पाते. इनमे से एक कारण है अनुवाद (translation) करना. हम हमेशा अपनी भाषा को अंग्रेजी में अनुवाद करते है जो बिल्कुल सही नहीं है. अगर हमें english सीखना है तो हमें उसी में वाक्यों को लिखना पड़ेगा उसी भाषा में हमे सोचना पड़ेगा.

अनुवाद करने से हम english कभी नही बोल सकते क्यूंकि जब भी आप बोलने की कोशिश करोगे तो पहले आपका दिमाग उस sentence को अपनी भाषा में सोचेगा फिर उसको english में अनुवाद करेगा इसके अंदर बहुत समय चला जायेगा और आप कभी भी fluently english नहीं बोल पाओगे.

viii) अंग्रेजी अख़बार(newspaper) पढ़ें

english padhna kaise sikhe in hindi

english कैसे सीखें? इसका एक तरीका अख़बार पढना भी हो सकता है. आप में से लगभग हर व्यक्ति अख़बार तो पढ़ता ही है. बस आपको उसमे एक बदलाव करना है आपको अपनी भाषा के अख़बार को छोड़ के अंग्रेजी का अख़बार पढना है.

भारत ने कई तरह के english newspaper रोज प्रकाशित होतें है जेसे- The Hindu, Times of india, Indian Express, आदि. आज ही अपने अख़बार देने वाले भैया को अंग्रेजी का अख़बार देने के लिए बोल दीजिये.

English Padhna Kaise Sikhe

हो सकता है आपको कुछ दिन तक कुछ समझ ना आये और आप bore होने लगो. पर आपको लगे रहना धीरे-धीरे समझ में आने लगेगा. शुरू में आप सिर्फ ऐसी खबरे पढ़े जिसमे आपका interest हो जिससे आपको कभी बोरियत महसूस नहीं होगी.

रोज आपको नये-नये शब्द मिलेंगे उनको एक डायरी में note करके आप रख सकते हो. फिर उन शब्दों का मतलब आप dictonary से देख सकते है. फिर कभी जब वो शब्द आपके सामने आएंगे तो आप उन्हें आसानी से समझ पाओगे.

ix) घबराएँ नही English बोंले (English Kaise sikhe)

baccho ko english kaise sikhe

बहुत सारे लोग है जो सिर्फ इसलिए नही बोल पातें क्यूंकि वो बोलने से घबरातें है वो ये सोचते है कि लोग उनके बारे में क्या सोचेंगे? यह सोच आपको बदलनी पड़ेगी अगर आप ये सोचते रहें कि लोग क्या सोचेंगे तो आप कभी english बोलना नही सीख पाओगे.

आपको अपने ऊपर आत्मविश्वास रखना है. आप कुछ भी काम करो लोग तो हमेशा ही उसमे गलतियाँ निकालेंगे उनके बारे में आपको नही सोचना है. आपको हमेशा english बोलते रहना है. ऐसा नही है कि आप पहली बार में ही फरार्टेदार अंग्रेजी बोलने लगोगे इससे आपको घबराना नही है.

आप क्या पैदा होते ही अपनी खुद की भाषा बोलने लगे थे? नही ना? उसको सीखने में भी आपको वक्त लगा था वैसे ही अंग्रेजी सीखने भी आपको समय लगेगा बस आपको धैर्य रखना पड़ेगा.

x) अच्छा श्रोता (Listener) बनें

english kaise sikhe video

आप सोच रहे होंगे कि यह कोनसा तरीका है अंग्रेजी सीखने का. यह बहुत ही महत्वपूर्ण और कारगर तरीका है कोई भी चीज़ सीखने का. आपने अपने जीवन में जो भी चीज़ सीखी है वो सुनकर ही सीखी है. अगर आपसे कोई पूछे कि जो भी भाषा बोलते हो वो अपने कहाँ से सीखी? तो आपके पास क्या जवाब होगा?

क्या आप उसको सीखने किसी स्कूल में गये? या अपने spoken classes join की? नहीं ना? फिर भी आप अपनी भाषा को धाराप्रवाह बोल पाते हो चाहे आप कभी स्कूल गये हो या नहीं. इसका कारण ये है की आप बचपन से ही अपनी भाषा को सुनते आये हो आपके आसपास जितने भी लोग थे वह यही भाषा बोलते थे इसलिए वह आपके दिमाग में store हो गयी.

यही same तरीका आपको english सीखने के लिए अपनाना है. जितना हो सके हमेशा सुनने की कोशिश करें जो अभी english बोल रहा हो उसको सुनें. वह चाहे फिल्म हो या रेडियो या फिर गाने ध्यान से उसको सुनें धीरे-धीरे आपका दिमाग इन सबको आपके अवचेतन मन में इकट्ठा करना शुरू कर देगा. और आपको english बोलने में कोई दिक्कत नही आयेगी.

Xi) English को अपने दैनिक जीवन से जोड़ें

किसी भी चीज़ को जब आप अपने दैनिक जीवन से जोड़ के देखते हों तो आप उसके साथ घुल-मिल जाते हो. और वह आपके रोज की दिनचर्या का अभिन्न अंग बन जाती है. उसी तरह अंग्रेजी को भी अपने रोज के जीवन से जोड़ना है. फिर देखिये कैसे आप बिना किसी की सहायता से आसानी से अंग्रेजी बोल पाओगे.

छोटे-छोटे वाक्य बोलना शुरू करें घर में काम आने वाली चीजों को english में नाम लेके पुकारे. जैसे उदाहरण के लिए आपको बोलना है- इधर आओ! तो आप इसको अंग्रेजी में बोलिए come here! इस तरह आपका अभ्यास भी हो जायेगा और आपके अंदर english बोलने का आत्मविश्वास भी जाग्रत हो जायेगा.

xii) रटें नहीं समझे

हमारी यह आदत होती है कि हम हर चीज़ को रटते है. रटी हुई चीज़ कुछ समय के लिए याद रहती है फिर आप उसको भूल जाते हो. आप किसी भी भाषा को रट के कभी नही पढ़ सकते उसको समझना पड़ेगा गहराई से.
हमको रटने की आदत बचपन से स्कूल से ही मिली है जिसको हम जिंदगी भर ढोते है. आपने स्कूल में हर चीज़ को रट के याद किया इसी लिए अभी तक वह आपको याद नहीं है. इसलिए हमेशा समझ के पढना है सिर्फ तोते के जैसे रटना नही है.

xiii) समझ आती है बोलना नहीं आता

english सीखने वालो से अक्सर जो सुनने में आता है वह यह है कि हम english को समझ तो पाते है लेकिन बोलते समय जबान लड़खड़ा जाती है. यह एक आम परेशानी है और इस परेशानी की वजह कहीं न कहीं हम ही है. क्यूंकि हम बोलने का अभ्यास नही करते हमारे अंदर आत्मविश्वास की कमी है.

अंग्रेजी बोलने के लिए आपको सबसे पहले उसका अभ्यास करना होगा. आप अपना कोई साथी देख लीजिये जो आपसे अंग्रेजी में बात कर सके अगर वो भी अंग्रेजी सीख रहा हो तो और भी अच्छा है. आप दोनों एक दुसरे से अंग्रेजी में वार्तालाप कर सकते है.

जिससे आप दोनों की english में सुधार देखने को मिलेगा. अगर आपको कोई नही मिलता जो आपसे अंग्रेजी में बात कर सके तो आप आईने के सामने खड़े होके खुद से बात कर सकते है. यह बहुत ही अच्छा तरीका है english का अभ्यास करने के लिए.

xiv) मनोरंजक (fun) तरीकों से सीखे

english सीखने में जो सबसे बड़ी मुश्किल आती है लोगो के सामने कि कुछ दिन सीखने के बाद उनको english से बोरियत होने लगती है. इसका कारण हमारे सीखने के तरीकें है हम ऐसी किताबें उठा लेते है जिनका standard बहुत ऊपर होता है.

और शुरू में वो हमको बिलकुल समझ नहीं आती और हम सोचने लगते है कि हमारे अंदर ही कुछ कमी है और हमारा confidence गिर जाता है. इसके लिए हमे कुछ ऐसे तरीकें अपनाने पड़ेंगे जिससे english हमको मनोरंजक लगे न की boring. हमेशा पढने के लिए ऐसी किताबों को चुने जिसकी language ज्यादा कठिन नही हो जो ऐसी english हो जो आपको आसानी से समझ में आ जाये.

English kaise sikhe jati hai

जब आप english सीखना शुरू करतें है तो कभी भी विदेशी (foreigner) लेखको की किताब नही पढ़ें. इसके लिए आप भारतीय लेखको की किताब को चुन सकते हो जो अंग्रेजी में लिखते हो और जिनकी english ज्यादा कठिन ना हो.

ऊपर बताये गये तरीकों को अपना के आप भी english पे अच्छी पकड़ बना सकते है. बस आपको धैर्य और आत्मविश्वास रखना है और मेहनत करते जाना है. जरुर आप एक दिन सफल होंगे 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here